भारतीय रिजर्व बैंक ने 'मुधोल कूप बैंक' का लाइसेंस रद्द किया**

बैंकिंग और अर्थव्यवस्था

भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) द्वारा बैंकिंग विनियमन अधिनियम, 1949 की धारा 35A और धारा 56 के तहत 'द मुधोल को-ऑपरेटिव बैंक लिमिटेड' का लाइसेंस रद्द कर दिया गया था। सहकारी बैंक कर्नाटक के बागलकोट में स्थित है।

लाइसेंस रद्द करने से बैंक को जमा राशि के पुनर्भुगतान और नए फंड की स्वीकृति से प्रतिबंधित कर दिया जाता है यानी बैंक को 'बैंकिंग' व्यवसाय करने से प्रतिबंधित कर दिया गया था। आरबीआई ने बैंक की प्रक्रिया को प्रतिबंधित कर दिया क्योंकि बैंक के पास पर्याप्त पूंजी और कमाई की संभावनाएं नहीं हैं।

सहकारी बैंक अपने वर्तमान जमाकर्ताओं को उनकी वर्तमान वित्तीय स्थिति पर पूरा भुगतान करने में असमर्थ है।

बैंक के 99% से अधिक जमाकर्ता अपनी जमा राशि की पूरी राशि का दावा करने के हकदार हैं, अर्थात जमा बीमा और क्रेडिट गारंटी निगम (DICGC) से जमा बीमा के रूप में 5 लाख रुपये तक। DICGC पहले ही बैंक के संबंधित जमाकर्ताओं से प्राप्त इच्छा के आधार पर कुल बीमित जमा राशि में से 16.69 करोड़ रुपये का भुगतान कर चुका है।

 

   परीक्षा के संदर्भ में महत्वपूर्ण बिंदु:

  • भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) द्वारा 'द मुधोल को-ऑपरेटिव बैंक लिमिटेड' का लाइसेंस रद्द कर दिया गया था।
  • लाइसेंस रद्द कर दिया गया था क्योंकि बैंक के पास पर्याप्त पूंजी और कमाई की संभावनाएं नहीं थीं।
  • लाइसेंस रद्द करने से बैंक को जमा राशि के पुनर्भुगतान और नए फंड की स्वीकृति से प्रतिबंधित कर दिया जाता है यानी बैंक को 'बैंकिंग' व्यवसाय करने से प्रतिबंधित कर दिया गया था।
  • बैंक के 99% से अधिक जमाकर्ता अपनी जमा राशि की पूरी राशि का दावा करने के हकदार हैं, अर्थात जमा बीमा और क्रेडिट गारंटी निगम (DICGC) से जमा बीमा के रूप में 5 लाख रुपये तक।

   जानने के लिए तथ्य:

  • जमा बीमा और ऋण गारंटी निगम (DICGC) की स्थापना 1978 में हुई थी।
  • डीआईसीजीसी का मुख्यालय: मुंबई, महाराष्ट्र।
  • डीआईसीजीसी के अध्यक्ष: श्री माइकल पात्रा।
  • डीआईसीजीसी आरबीआई का एक प्रभाग है जो वित्त मंत्रालय के अधिकार क्षेत्र में कार्य करता है।
preparing for jeet

क्या आप सरकारी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं?

यह आपकी जीत का रास्ता है

View courses