8 जून को मनाया जाएगा विश्व ब्रेन ट्यूमर दिवस**

महत्वपूर्ण दिन, पुस्तकें और लेखक

वर्ष 2000 से हर साल 8 जून को विश्व ब्रेन ट्यूमर दिवस मनाया जा रहा है, जिसका उद्देश्य जन जागरूकता बढ़ाना और लोगों को ब्रेन ट्यूमर के बारे में शिक्षित करना है, क्योंकि दुनिया भर में हर दिन ब्रेन ट्यूमर के 500 नए मामलों का निदान किया जाता है।

यदि मस्तिष्क के किसी भाग में कोई असामान्य कोशिकाएं विकसित हो जाती हैं, तो इसे ब्रेन ट्यूमर के रूप में जाना जाता है। ट्यूमर दो मुख्य प्रकार के होते हैं, अर्थात् मालिगनेंट टयूमर और बेनाइन ट्यूमर।

इस दिन को पहली बार एक गैर-लाभकारी संगठन जर्मन ब्रेन ट्यूमर एसोसिएशन द्वारा मनाया गया था। मालिगनेंट ब्रेन ट्यूमर जर्मनी में बहुत आम है क्योंकि केवल जर्मनी में ही 8,000 से अधिक लोग इन बीमारियों से पीड़ित हैं। यह बच्चों में सबसे आम प्रकार का कैंसर है।

भारत में, केंद्र सरकार ने अंतिम चरण में उपशामक देखभाल सहित रोकथाम, स्क्रीनिंग, प्रारंभिक पहचान, निदान और उपचार के उद्देश्यों के साथ राष्ट्रीय कैंसर नियंत्रण कार्यक्रम शुरू किया है।

ब्रेन ट्यूमर के कुछ सामान्य लक्षण सिरदर्द, दौरे, दृष्टि संबंधी समस्याएं, उल्टी और मानसिक परिवर्तन हैं।

 

   परीक्षा के लिए महत्वपूर्ण बिंदु:

  • वर्ष 2000 से हर साल 8 जून को विश्व ब्रेन ट्यूमर दिवस मनाया जा रहा है।
  • इस दिन का उद्देश्य लोगों में ब्रेन ट्यूमर के बारे में जागरूकता बढ़ाना और लोगों को शिक्षित करना है, क्योंकि दुनिया भर में हर दिन ब्रेन ट्यूमर के 500 नए मामलों का निदान किया जाता है।
  • यदि मस्तिष्क के किसी हिस्से में कोई असामान्य कोशिकाएं विकसित हो जाती हैं, तो इसे ब्रेन ट्यूमर के रूप में जाना जाता है। ट्यूमर दो मुख्य प्रकार के होते हैं, अर्थात् मालिगनेंट और बेनाइन ट्यूमर।
  • ब्रेन ट्यूमर के कुछ सामान्य लक्षण सिरदर्द, दौरे, दृष्टि संबंधी समस्याएं, उल्टी और मानसिक परिवर्तन हैं।
preparing for jeet

क्या आप सरकारी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं?

यह आपकी जीत का रास्ता है

View courses