केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पहली बार राष्ट्रीय वायु खेल नीति 2022 की घोषणा की

राष्ट्रीय

         केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने नई दिल्ली में पहली बार राष्ट्रीय एअर स्पोर्ट्स नीति-2022 की घोषणा की। इस नीति का उद्देश्य 2030 तक भारत को शीर्ष एअर स्पोर्ट्स वाले देशों में शामिल करना है। इसका उद्देश्य देश में एक सुरक्षित, किफायती और टिकाऊ हवाई खेल पारिस्थितिकी तंत्र प्रदान करना भी है। इस नीति के माध्यम से एरोबेटिक्स, बैलूनिंग, ग्लाइडिंग, पैराशूटिंग, पावर्ड एयरक्राफ्ट और रोटरक्राफ्ट सहित ग्यारह एअर स्पोर्ट्स को बढ़ावा दिया जाएगा।

  सरकार ने कहा कि राष्ट्रीय वायु खेल नीति देश में नई संभावनाएं लेकर आएगी और इससे लगभग 8 अरब अमेरिकी डॉलर - 80 अरब अमेरिकी डॉलर का उद्योग बनने की संभावना है। नीति के अनुसार, प्रत्येक खेल का अपना केंद्रीय और राज्य स्तरीय संघ होगा। छह नए हवाई खेलों को भी जोड़ा गया है, जिसके बाद अब कुल 11 खेलों को राष्ट्रीय एअर स्पोर्ट्स नीति 2022 में शामिल किया गया है।

   इसके अलावा सरकार ने कहा कि एक एयर स्पोर्ट्स फेडरेशन भी बनाया जाएगा जो निगरानी और नियमन करेगा। यह फेडरेशन अंतरराष्ट्रीय संगठन फेडेरेशन एरोनॉटिक इंटरनेशनेल में भारत का प्रतिनिधित्व करेगा।

 

   परीक्षा के लिए महत्वपूर्ण बिंदु:

  • केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने नई दिल्ली में पहली बार राष्ट्रीय एअर स्पोर्ट्स नीति-2022 की घोषणा की।
  • इस नीति का उद्देश्य 2030 तक भारत को शीर्ष एअर स्पोर्ट्स वाले देशों में शामिल करना है।
  • इस नीति के माध्यम से एरोबेटिक्स, बैलूनिंग, ग्लाइडिंग, पैराशूटिंग, पावर्ड एयरक्राफ्ट और रोटरक्राफ्ट सहित ग्यारह हवाई खेलों को बढ़ावा दिया जाएगा।
  • सरकार ने कहा कि एक एयर स्पोर्ट्स फेडरेशन भी बनाया जाएगा जो निगरानी और नियमन करेगा।
  • यह फेडरेशन अंतरराष्ट्रीय संगठन फेडेरेशन एरोनॉटिक इंटरनेशनेल में भारत का प्रतिनिधित्व करेगा।

Related Current Affairs

preparing for jeet

क्या आप सरकारी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं?

यह आपकी जीत का रास्ता है

View courses