अमेरिका के हटने के बाद पहली तालिबानी मुलाकात के लिए भारतीय अधिकारियों ने काबुल का दौरा किया

अंतरराष्ट्रीय

अगस्त 2021 में अफगानिस्तान के तालिबान के अधिग्रहण के बाद से भारत सरकार के पहले आधिकारिक प्रतिनिधिमंडल ने पहली बार अफगानिस्तान का दौरा किया। उसी महीने तालिबान के शहर में प्रवेश करने के तुरंत बाद भारत ने काबुल में अपना मिशन बंद कर दिया।

आधिकारिक टीम का नेतृत्व विदेश मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी श्री जे पी सिंह ने किया था और तालिबान के विदेश मंत्री अमीर खान मोत्ताकी से मुलाकात की और काबुल में एक अस्पताल, एक स्कूल और एक बिजली संयंत्र का दौरा किया। श्री जे पी सिंह, विदेश मंत्रालय में पाकिस्तान, अफगानिस्तान और ईरान (पीएआई) के प्रभारी संयुक्त सचिव। इससे पहले वह कतर के दोहा में तालिबान अधिकारियों से मिल चुके हैं।

इस यात्रा का उद्देश्य अफगानिस्तान को 'हमारी मानवीय सहायता के वितरण कार्यों' का मूल्यांकन और निगरानी करना था।

पहली बैठक में, राजनयिकों ने अफगानिस्तान और भारत के बीच राजनयिक संबंधों, द्विपक्षीय व्यापार और मानवीय सहायता पर चर्चा की। इस यात्रा और चर्चा को दोनों देशों के बीच 'अच्छी शुरुआत' के रूप में पहचाना गया।

मानवीय सहायता में, भारत सरकार ने 20,000 मीट्रिक टन गेहूं, 13 टन दवाएं, कोविड वैक्सीन की 500,000 खुराक और सर्दियों के कपड़ों से युक्त कई शिपमेंट भेजे।

एक विस्तार में, भारत सरकार ने ईरान में अफगान शरणार्थियों को प्रशासित करने के लिए ईरान को भारत निर्मित कोवैक्सिन की दस लाख खुराकें भेंट कीं।

 

   परीक्षा के लिए महत्वपूर्ण बिंदु:

  • अगस्त 2021 में अफगानिस्तान के तालिबान के अधिग्रहण के बाद से भारत सरकार का पहला आधिकारिक प्रतिनिधिमंडल पहली बार अफगानिस्तान का दौरा किया।
  • इस यात्रा का उद्देश्य अफगानिस्तान को 'हमारी मानवीय सहायता के वितरण कार्यों' का मूल्यांकन और निगरानी करना था।
  • पहली बैठक में, राजनयिकों ने अफगानिस्तान और भारत के बीच राजनयिक संबंधों, द्विपक्षीय व्यापार और मानवीय सहायता पर चर्चा की।
  • मानवीय सहायता में, भारत सरकार ने 20,000 मीट्रिक टन गेहूं, 13 टन दवाएं, कोविड वैक्सीन की 500,000 खुराक और सर्दियों के कपड़ों से युक्त कई शिपमेंट भेजे।

   जानने के लिए तथ्य:

  • अफगानिस्तान की राजधानी: काबुल।
  • अफगानिस्तान की मुद्रा: अफगान अफगानी।
  • अफगानिस्तान की आधिकारिक भाषाएँ: पश्तो, दारी।

Related Current Affairs

preparing for jeet

क्या आप सरकारी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं?

यह आपकी जीत का रास्ता है

View courses