आरबीआई ने गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों के लिए प्राथमिक क्षेत्र को लगातार ऋण देने के लिए बैंक ऋण खोला

बैंकिंग और अर्थव्यवस्था

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने बैंकों को एनबीएफसी को प्राथमिकता वाले क्षेत्रों को ऋण देने के लिए निरंतर आधार पर उधार देने की अनुमति देने का निर्णय लिया। यह कदम बैंकों और गैर-बैंकिंग वित्त कंपनी (एनबीएफसी) के बीच विशिष्ट प्राथमिकता वाले क्षेत्रों को ऋण देने के लिए विकसित किए गए तालमेल को जारी रखना सुनिश्चित करता है। यही  एनबीएफसी-एमएफआई को आगे उधार देनेवाले छोटे वित्त बैंकों के लिए भी लागू होता है। यह सुविधा पहले 31 मार्च 2022 तक के लिए दी गई थी।

प्राथमिकता वाले क्षेत्रों को आगे उधार देने के लिए आवास वित्त कंपनियों (एचएफसी) सहित एनबीएफसी को बैंक ऋण की अनुमति एक व्यक्तिगत बैंक के कुल प्राथमिकता वाले क्षेत्र के ऋण के 5 प्रतिशत की कुल सीमा तक दी जाएगी। एनबीएफसी-एमएफआई और अन्य एमएफआई, जो आरबीआई से मान्यता प्राप्त हैं, को आगे उधार देने के लिए लघु वित्त बैंकों को एक व्यक्तिगत बैंक के कुल प्राथमिकता वाले क्षेत्र के उधार के 10 प्रतिशत की समग्र सीमा तक अनुमति दी जाएगी।

आरबीआई ने यह भी अधिसूचित किया कि छोटे वित्त बैंकों को पंजीकृत एनबीएफसी-एमएफआई और अन्य एमएफआई को उधार देने की अनुमति दी जाएगी, जिनके पास पिछले वित्तीय वर्ष के 31 मार्च तक 500 करोड़ रुपये तक का सकल ऋण पोर्टफोलियो है।

 

   परीक्षा की दृष्टि से महत्वपूर्ण बिंदु:

  • भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने बैंकों को एनबीएफसी को प्राथमिकता वाले क्षेत्रों को ऋण देने के लिए निरंतर आधार पर उधार देने की अनुमति देने का निर्णय लिया।
  • प्राथमिकता वाले क्षेत्रों को आगे उधार देने के लिए आवास वित्त कंपनियों (एचएफसी) सहित एनबीएफसी को बैंक ऋण की अनुमति एक व्यक्तिगत बैंक के कुल प्राथमिकता वाले क्षेत्र के ऋण के 5 प्रतिशत की कुल सीमा तक दी जाएगी।
  • एनबीएफसी-एमएफआई को आगे उधार देने के लिए लघु वित्त बैंकों को एक व्यक्तिगत बैंक के कुल प्राथमिकता वाले क्षेत्र को उधार देने की कुल सीमा 10 प्रतिशत तक की अनुमति होगी।

    जानने के लिए तथ्य:

  • प्राथमिकता प्राप्त क्षेत्र उधार अर्थव्यवस्था के उन क्षेत्रों को उधार दे रहा है जो अन्यथा समय पर और पर्याप्त ऋण प्राप्त नहीं कर सकते हैं।

Related Current Affairs

13/06/2022

भारतीय रिजर्व बैंक ने 'मुधोल कूप बैंक' का लाइसेंस रद्द किया**

लाइसेंस रद्द होने के साथ, बैंक बैंकिंग कार्य नहीं कर सकता है अर्थात जमा की स्वीकृति और पुनर्भुगतान।

बैंकिंग और अर्थव्यवस्था

13/06/2022

निर्मला सीतारमण ने सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के लिए 5.0 'आम सुधार एजेंडा' का शुभारंभ किया

MDs, मुख्य कार्यकारी अधिकारियों & सार्वजनिक बैंकों के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने वर्चुअल रूप से इस कार्यक्रम में भाग लिया

बैंकिंग और अर्थव्यवस्था

13/06/2022

ब्यूटी रिटेलर पर्पल 33 मिलियन डॉलर के साथ भारत का 102वां यूनिकॉर्न बना**

एड-टेक स्टार्ट-अप फिजिक्सवाला के बाद, जून 2022 के महीने में यूनिकॉर्न टैग हासिल करने वाली यह दूसरी फर्म है।

बैंकिंग और अर्थव्यवस्था

preparing for jeet

क्या आप सरकारी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं?

यह आपकी जीत का रास्ता है

View courses