प्रधानमंत्री मोदी ने मध्य प्रदेश में नई स्टार्टअप नीति की शुरुआत की

राष्ट्रीय

मध्य प्रदेश स्टार्ट-अप कॉन्क्लेव मध्य प्रदेश के सबसे बड़े शहर इंदौर में आयोजित किया गया था। कॉन्क्लेव में, राज्य की नई 'मध्य प्रदेश स्टार्ट-अप नीति' को वस्तुतः भारतीय प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लॉन्च किया गया था। उन्होंने मध्य प्रदेश स्टार्ट-अप पोर्टल भी लॉन्च किया।

वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से अपने संबोधन के दौरान, उन्होंने कहा कि देश में एक सक्रिय स्टार्ट-अप नीति और पर्याप्त स्टार्ट-अप नेतृत्व है।

नई नीति महिलाओं के नेतृत्व वाले स्टार्ट-अप को अतिरिक्त 20% सहायता प्रदान करेगी और विशेष कार्यक्रमों के माध्यम से स्कूल और कॉलेज स्तर के छात्रों के बीच नवाचार और स्टार्ट-अप के लिए उत्साह पैदा करेगी। नई नीति के तहत चयनित स्टार्ट-अप और इनोवेटर्स को भी 1 करोड़ रुपये की विशेष प्रोत्साहन सहायता दी जाएगी।

नीति को बढ़ावा देने के लिए, मध्य प्रदेश वेंचर फाइनेंस लिमिटेड और मध्य प्रदेश वेंचर फाइनेंस ट्रस्टी लिमिटेड को मध्य प्रदेश लघु उद्योग निगम के साथ विलय करके विशेष उद्यम पूंजी का गठन किया गया था, जिसका उद्देश्य भविष्य में स्टार्ट-अप को वित्त पोषण सहायता प्रदान करना था।

भारत में दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा स्टार्ट-अप इकोसिस्टम है। वर्ष 2014 में भारत में केवल 300 से 400 स्टार्ट-अप थे, जबकि आज यह संख्या 70 हजार तक पहुंच गई है।

स्टार्ट-अप इकोसिस्टम की सफलता के पीछे का रहस्य बुनियादी ढांचे का निर्माण, सरकारी प्रक्रियाओं का सरलीकरण और लोगों की मानसिकता को बदलना है।

युवा उद्यमियों के पास हैकाथॉन के माध्यम से स्टार्ट-अप के लिए एक मजबूत आधार है और उनका पालन-पोषण स्कूलों के व्यावसायिक ज्ञान से होता है। स्कूलों में अटल टिंकरिंग लैब और 700 से अधिक ऊष्मायन केंद्रों को भी देश में स्टार्ट-अप स्थापित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई गई है।

 

   परीक्षा की दृष्टि से महत्वपूर्ण बिंदु:

  • हाल ही में आयोजित मध्य प्रदेश स्टार्ट-अप कॉन्क्लेव में, राज्य की 'मध्य प्रदेश स्टार्ट-अप नीति' को भारतीय प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा वस्तुतः लॉन्च किया गया था। उन्होंने मध्य प्रदेश स्टार्ट-अप पोर्टल भी लॉन्च किया।
  • नई नीति महिलाओं के नेतृत्व वाले स्टार्ट-अप को अतिरिक्त 20% सहायता प्रदान करेगी और विशेष कार्यक्रमों के माध्यम से स्कूल और कॉलेज स्तर के छात्रों के बीच नवाचार और स्टार्ट-अप के लिए उत्साह पैदा करेगी।
  • नई नीति के तहत चयनित स्टार्ट-अप और इनोवेटर्स को भी 1 करोड़ रुपये की विशेष प्रोत्साहन सहायता दी जाएगी।
  • नीति को बढ़ावा देने के लिए, मध्य प्रदेश वेंचर फाइनेंस लिमिटेड और मध्य प्रदेश वेंचर फाइनेंस ट्रस्टी लिमिटेड को मध्य प्रदेश लघु उद्योग निगम के साथ विलय करके विशेष उद्यम पूंजी का गठन किया गया था, जिसका उद्देश्य भविष्य में स्टार्ट-अप को वित्त पोषण सहायता प्रदान करना था।
  • भारत में दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा स्टार्ट-अप इकोसिस्टम है। वर्ष 2014 में भारत में केवल 300 से 400 स्टार्ट-अप थे, जबकि आज यह संख्या 70 हजार तक पहुंच गई है।

   जानने के लिए तथ्य:

  • मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री: श्री शिवराज सिंह चौहान।
  • मध्य प्रदेश के राज्यपाल: श्री मंगूभाई सी. पटेल।
  • मध्य प्रदेश में यूनेस्को विरासत स्थल: खजुराहो स्मारक समूह (1986), सांची में बौद्ध स्मारक (1989), भीमबेटका के रॉक शेल्टर (2003)।

Related Current Affairs

preparing for jeet

क्या आप सरकारी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं?

यह आपकी जीत का रास्ता है

View courses