लाल किले में श्री गुरु तेग बहादुर जी के 400वां प्रकाश पर्व के कार्यक्रम में शामिल होंगे पीएम मोदी

राष्ट्रीय

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने नई दिल्ली के लाल किले पर हो रहे श्री गुरु तेग बहादुर जी के 400वां  प्रकाश पर्व के दो दिवसीय कार्यक्रम के समारोह में भाग लिया और इसका आयोजन भारत सरकार द्वारा दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधन समिति के सहयोग से किया गया था।

हर साल, गुरु तेग बहादुर जयंती 21 अप्रैल को सिखों के नौवें गुरु, गुरु तेग बहादुर की जयंती के रूप में मनाई जाती है।

कार्यक्रम नौवें सिख गुरु, गुरु तेग बहादुर जी की शिक्षाओं को उजागर करने पर केंद्रित है, जिन्होंने विश्व इतिहास में धर्म और मानवीय मूल्यों, आदर्शों और सिद्धांतों की रक्षा के लिए अपने जीवन का बलिदान दिया। गुरु तेग बहादुर को 'हिंद दी चादर' के नाम से जाना जाता है।

पीएम ने सभा को संबोधित किया और इस अवसर पर एक स्मारक सिक्का और डाक टिकट भी जारी किया। गुरु तेग बहादुर जी के जीवन को दर्शाने वाला एक भव्य लाइट एंड साउंड शो भी था। इसके अलावा सिखों की पारंपरिक मार्शल आर्ट 'गतका' का भी आयोजन किया गया।

कश्मीरी पंडितों की धार्मिक स्वतंत्रता का समर्थन करने के लिए मुगल शासक औरंगजेब के आदेश पर उन्हें मार दिया गया था। उनकी पुण्यतिथि 24 नवंबर को हर साल शहीद दिवस के रूप में मनाई जाती है।

   परीक्षा की दृष्टि से महत्वपूर्ण बिंदु:

  • सिखों के नौवें गुरु श्री गुरु तेग बहादुर जी का 400वां प्रकाश पर्व नई दिल्ली के लाल किले में मनाया गया।
  • कार्यक्रम उनकी शिक्षाओं को उजागर करने पर केंद्रित है, जिन्होंने विश्व इतिहास में धर्म और मानवीय मूल्यों, आदर्शों और सिद्धांतों की रक्षा के लिए अपने जीवन का बलिदान दिया है।
  • प्रधानमंत्री द्वारा एक स्मारक सिक्का और एक डाक टिकट जारी किया गया और सिखों की पारंपरिक मार्शल आर्ट 'गतका' का भी आयोजन किया गया।
  • 24 नवंबर को श्री गुरु तेग बहादुर जी की पुण्यतिथि के उपलक्ष्य में 'शहीद दिवस' मनाया जा रहा है।

   जानने के लिए तथ्य:

  • सिख धर्म के संस्थापक: गुरु नानक
  • सिख गुरु की कुल संख्या: 10
  • सिखों का पूजा स्थल: गुरुद्वारा - का अर्थ है 'गुरु का द्वार’'।

Never search for

exam resources

Get them delivered to you

Email Subscription
preparing for jeet

क्या आप सरकारी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं?

यह आपकी जीत का रास्ता है

View courses